लखनऊ, NOI:  भारतीय जनता पार्टी के सांसद वरुण गांधी एक बार फिर किसानों के समर्थन में खड़े हो गए हैं। मुजफ्फरनगर में बीती पांच सितंबर को किसानों की महापंचायत में उमड़े लोगों को देखकर उन्होंने सरकार से किसानों की मांग पर ध्यान देने की सलाह देने के साथ सोमवार को फिर किसानों के हित की बात की।

भारतीय जनता पार्टी के सांसद वरुण गांधी किसानों के हित में सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र भी उसी समय लिख रहे हैं, जब किसानों की बड़ी सभा या फिर आंदोलन होता है। पांच सितंबर को मुजफ्फरनगर में किसानों की महापंचायत थी तो सोमवार को किसानों ने तीन कृषि कानूनों के विरोध में भारत बंद का आह्वान किया है।

पीलीभीत से सांसद वरुण गांधी ने सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर गन्ना का समर्थन मूल्य बढ़ाने के साथ ही उनके सामने बड़ी मांग भी रख दी है। उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ को दो पन्ने का पत्र भी लिखा है। इस बाबत उन्होंने एक ट्वीट भी किया। उन्होंने ट्वीट में लिखा की उत्तर प्रदेश में आगामी पेराई सत्र में गन्ने का रेट 350 प्रति क्विंटल घोषित करने के लिए योगी जी का आभार। आगे लिखा कि मेरा निवेदन है कि कृपया इस पर पुनर्विचार कर बढ़ती लागत व महंगाई के अनुरूप 400 रुपए प्रति क्विंटल का रेट घोषित करें। इसके साथ ही सरकार की ओर से 50 रुपया प्रति क्विंटल का बोनस घोषित रेट के ऊपर अलग से देने की कृपा करें। मुख्यमंत्री को भेजे गए इस पत्र को सोमवार को मीडिया में जारी किया गया। पत्र में सांसद ने कहा कि उप्र में गन्ना एक प्रमुख फसल है। इसकी खेती में 50 लाख किसान परिवार लगे हुए हैं। लाखों मजदूरों को भी इससे रोजगार मिलता है। पीलीभीत के गन्ना किसानों ने उनके माध्यम से मुख्यमंत्री को अवगत कराने का निवेदन किया है कि पिछले चार सालों में गन्ने की लागत, खाद, बीज, कीटनाशक, बिजली, पानी, डीजल, मजदूरी, छोल, ढुलाई आदि का खर्चा काफी बढ़ गया है, परन्तु पिछले चार सत्रों में गन्ने के रेट में मात्र 10 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोत्तरी की गई है।

पत्र में सांसद ने पेराई सत्र 2021-22 के लिए गन्ना मूल्य में 25 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोत्तरी के लिए मुख्यमंत्री के प्रति धन्यवाद जताते हुए कहा कि गन्ना किसान आपसे और ज्यादा मूल्य वृद्धि की आशा कर रहे हैं। प्रदेश के गन्ना किसानों की आर्थिक स्थिति बहुत ही दयनीय बनी हुई है। गन्ने का उचित मूल्य न मिलने के कारण वे कर्ज में डूब गए हैं। सांसद ने कहा कि इस विषय में उन्होंने एक पत्र के माध्यम से उनसे निवेदन किया था कि गन्ना किसानों की दुर्दशा, गन्ना की बढ़ती लागत और महंगाई दर को देखते हुए इस वर्ष गन्ने का मूल्य कम से कम 400 रुपये प्रति क्विंटल घोषित किया जाना चाहिए।

भाजपा सांसद वरुण गांधी ने साथ ही लिखा कि इसका दाम 400 रुपये प्रति क्विंटल होना चाहिए, इसलिए किसानों की मांग देखते हुए और बढोतरी की जाए। क‍िन्‍हीं कारणों से यदि ऐसा न हो सके तो प्रति क्विंटल 50 रुपये की दर से बोनस देने की व्‍यवस्‍था करा दें। खाद, बीज, डीजल, बिजली आदि महंगी होने से लागत ज्‍यादा हो गई है। किसानों की स्थिति दयनीय बताते हुए उनके हित में विचार करने का आग्रह किया।

0 Comments

Leave A Comment

Don’t worry ! Your email address will not be published. Required fields are marked (*).

LIVE अपडेट

Get Newsletter

Advertisement