नई दिल्‍ली, NOI: रेलवे प्रोविडेंड फंड की जनवरी-मार्च 2022 की तिमाही की ब्‍याज दर का ऐलान हो गया है। फाइनेंस मिनिस्‍ट्री ने बताया है कि यह ब्‍याज दर FY 21-22 State Railway Provident Fund की चौथी तिमाही के लिए है। इस दौरान PF खाते पर 7.1 फीसद की दर से ब्‍याज आएगा। रेलवे बोर्ड में डायरेक्‍टर फाइनेंस जी प्रिया सुदर्शनी ने सभी जनरल मैनेजरों, प्रिंसिपल फाइनेंशियल एडवाइजर को इस बारे में अवगत करा दिया है।

EPFO दे रहा 8.5 प्रतिशत ब्‍याज

इससे पहले केंद्र सरकार ने वित्त वर्ष 2020-21 के लिए कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) पर 8.5 प्रतिशत की दर से ब्याज को मंजूरी दी थी। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के 5 करोड़ से अधिक अंशधारकों को इसका फायदा मिल रहा है।

श्रम मंत्री की अध्‍यक्षता में हुआ था फैसला

श्रम मंत्री की अध्यक्षता वाला केंद्रीय न्यासी बोर्ड (सीबीटी) ने मार्च 2021 में पिछले वित्त वर्ष के लिए कर्मचारी भविष्य निधि जमा पर 8.5 प्रतिशत ब्याज दर तय की थी। सीबीटी ईपीएफओ का निर्णय लेने वाले सर्वोच्च निकाय है।

5 करोड़ से ज्‍यादा अंशधारकों के खातों में ब्‍याज हुआ जमा

वित्त मंत्रालय ने 2020-21 के लिए ईपीएफ पर ब्याज दर को मंजूरी दी थी। इसके बाद इसे 5 करोड़ से ज्‍यादा अंशधारकों के खातों में जमा किया गया। मार्च 2020 में ईपीएफओ ने 2019-20 के लिए भविष्य निधि जमा पर ब्याज दर को सात साल में सबसे कम करते हुए 8.5 प्रतिशत कर दिया था। यह 2018-19 में 8.65 प्रतिशत थी।

2012-13 के बाद से सबसे कम

वित्त वर्ष 2019-20 के लिए ईपीएफ (कर्मचारी भविष्य निधि) ब्याज दर 2012-13 के बाद से सबसे कम थी। 2012-13 में इसे घटाकर 8.5 प्रतिशत कर दिया गया था। ईपीएफओ ने अपने अंशधारकों को 2016-17 में 8.65 प्रतिशत और 2017-18 में 8.55 प्रतिशत ब्याज दिया था। 2015-16 में ब्याज दर 8.8 प्रतिशत से थोड़ी अधिक थी।

0 Comments

Leave A Comment

Don’t worry ! Your email address will not be published. Required fields are marked (*).

LIVE अपडेट

Get Newsletter

Advertisement