NOI :  मोहाली की जीरकपुर नगर परिषद के भ्रष्ट अधिकारी अभी भी पुराने तरीके से काम कर रहे हैं। बिल्डरों की तरफ से हजारों करोड़ रुपये बकाया होने के बावजूद नगर काउंसिल उनपर कोई कार्रवाई नहीं की कर रही है। जो बिल्डर पैसा जमा करवाना चाहते हैं उनसे सरकारी फीस लेने में आनाकानी की जा रही है। यह आरोप जैक रेजिडेंटस वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान सुखदेव चौधरी ने लगाए हैं। 

सुखदेव चौधरी ने शहर में जीरकपुर नगर परिषद व बिल्डर माफिया की मिलीभगत से चल रहे हजारों करोड़ रुपये के घोटाले को लेकर सुबूतों की एक फाइल डेराबस्सी के आम आदमी पार्टी के विधायक कुलजीत सिंह रंधावा को देते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को भी पत्र लिखा है।

जैक प्रधान सुखदेव चौधरी के अनुसार जीरकपुर में बिल्डर माफिया शुरुआत से ही हावी है। उनका आरोप है कि कांग्रेस के कार्यकाल में बेलगाम हुए नगर परिषद के अधिकारियों ने पिछले पांच साल के दौरान यहां आम जनता के हितों की अनदेखी करते हुए बिल्डरों के अनुसार योजनाएं बनाई और उन्हीं के अनुसार लागू की। इस समय नगर परिषद का बिल्डरों पर करीब बीस हजार करोड़ रुपये ईडीसी बकाया है।

उन्होंने आरोप लगाया कि जीरकपुर नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी व अन्य अधिकारी आज भी कांग्रेस के रंग में रंगे हुए हैं। जो बिल्डर पैसा देना भी चाहते हैं उनसे लिया नहीं जा रहा है। नगर परिषद के भ्रष्ट अधिकारी सरकारी फीस जमा करके केस खत्म करने की बजाए अपनी फीस लेने की तरफ ध्यान दे रहे हैं। पंजाब में सरकार बदलने के बावजूद जीरकपुर में खुलेआम धड़ल्ले से अवैध निर्माण हो रहे हैं। इन सब मुद्दों को लेकर हलका विधायक कुलजीत सिंह रंधवा को बीस हजार करोड़ के बकाए वाली फाइल सौंपी गई है। हलका विधायक ने इस मामले में जल्द उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

मेरे पास फाइल आई है। उसकी गंभीरता से जांच होगी। जो कोई भी दोषी पाया गया उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।

0 Comments

Leave A Comment

Don’t worry ! Your email address will not be published. Required fields are marked (*).

LIVE अपडेट

Get Newsletter

Advertisement