कानपुर, NOI :- उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में एक दर्दनाक हादसा हो गया। शहर के बर्रा क्षेत्र के मालवीय विहार में मंगलवार शाम एक तेज रफ्तार स्कॉर्पियो ने पिता के सामने ही छह वर्षीय बच्ची को रौंद दिया। आक्रोशित लोग जब कार चालक को गाड़ी से खींचने लगे तो वह इलाज कराने का आश्वासन देकर बच्ची को स्वजन के साथ एलएलआर अस्पताल ले गया। डॉक्टर ने बच्ची को मृत घोषित किया तो वह उन्हें वहीं छोड़कर भाग निकला। स्कार्पियो का नंबर मथुरा का है और लखनपुर के शास्त्रीपुरम सिकंदरा आगरा निवासी धर्मेंद्र सिंह के नाम पर पंजीकृत है।

मूलरूप से भीतरगांव निवासी सुधीर कुमार वर्मा कुलगांव में पूर्व माध्यमिक विद्यालय में शिक्षक हैं। वह कई वर्षों से बर्रा के मालवीय विहार के मकान में पत्नी माधवी वर्मा, बेटा आलेख व छह वर्षीय बेटी वामिका उर्फ लाडो के साथ रहते थे। वामिका केजी की छात्रा थी।

जाम से बचने के लिए गली में घुस गई गाड़ी


मृतका के पिता ने बताया कि मंगलवार शाम कर्रही रोड पर गुलाबी बिल्डिंग चौराहे पर जाम लगा था। इससे बचने के लिए सफेद रंग की स्कॉर्पियो बाईं तरफ से एकाएक गली में घुस गई। बेटी घर के बाहर ही खेल रही थी और वह भी बाहर ही खड़े थे कि तभी तेज रफ्तार स्कॉर्पियो ने बेटी को रौंद दिया। इसके बाद गाड़ी आगे जाने लगी लेकिन रास्ता बंद होने के चलते उसे रुकना पड़ा।

मौत की खबर सुनते ही भागा चालक


इस दौरान लोगों ने चालक को घेर लिया तो उसने बच्ची को अस्पताल ले जाने का आश्वासन दिया। सबसे पहले बच्ची को निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने बाहर से ही वापस कर दिया। इसके बाद वह उन्हें गाड़ी से एलएलआर अस्पताल ले गये, जहां बेटी को डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। बर्रा थाना प्रभारी ने बताया कि पिता की तहरीर पर कार नंबर के आधार पर चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा रहा है और आरोपी की तलाश की जा रही है।

0 Comments

Leave A Comment

Don’t worry ! Your email address will not be published. Required fields are marked (*).

LIVE अपडेट

Get Newsletter

Advertisement