नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Office Anxiety: आजकल मेरी जिस किसी भी दोस्त से बात होती है, उनसे हाल-चाल पूछने पर सबका जवाब एक जैसा ही होता है कि यार ऑफिस को हटा दो, तो बाकी लाइफ मस्त चल रही है। कोई अपनी देर तक चलने वाली शिफ्ट से परेशान है, तो कोई बेवजह के प्रेशर से, कुछ लोग ऑफिस पॉलिटिक्स से। वैसे कारणों की लिस्ट लंबी-चौड़ी है। एक फ्रेंड से इस मुद्दे पर लंबी बात होने लगी, तो उसने मुझे बताया कि उसे तो ऑफिस जाने के नाम से ही घबराहट होने लगती है। ये घबराहट ऐसी होती है कि उसके सांस भी कभी-कभार ऊपर-नीचे होने लगती है। पेट में अजीब सा दर्द होता है, तो कभी डिप्रेशन जैसा फील होता है। उससे बात करके मुझे लगा कि ऐसी फीलिंग तो मुझे एग्जाम देने से पहले हुआ करती थी
वहीं एक दूसरे दोस्त ने बताया कि अच्छा-खासा उसका वर्क फॉम होम चल रहा था, लेकिन कंपनी ने अचानक से ये ऑप्शन बंद कर दिया और अब जल्द ही उसे ऑफिस जाना पड़ सकता है, जिसके बारे में सोच-सोचकर वो टेंशन में है। बदलाव तो परिवर्तन का नियम है, तो इसे लेकर चिंतित होने की जगह तैयार होना जरूरी है। चीज़ों को कैसे हैंडल करना है, इस पर गौर करना जरूरी है। अगर आपने ये कला सीख ली, तो यकीनन हर एक टेंशन से निकलना आपके लिए आसान हो जाएगा।

क्या वजहें हो सकती है ऑफिस एंग्जाइटी की?



- काम के माहौल में किसी भी तरह का बदलाव चिंता और तनाव का कारण बन सकता है।

- काम का बहुत ज्यादा लोड, छंटनी का डर, प्रोजेक्ट समय पर पूरा न कर पाना, बेवजह आपको टॉरगेट किया जाना, नए माहौल में तालमेल न बिठा पाना जैसे कई कारण हो सकते हैं।

ऑफिस एंग्जाइटी से बचाव में मददगार हैं ये टिप्स 

1. ऑफिस का माहौल कितना भी टॉक्सिक क्यों न हो या बन रहा हो, आपको हर हाल में पॉजिटिव रहना है। ऑफिस के नकारात्मक माहौल और पॉलिटिक्स को खुद पर हावी न होने दें। खुद को पॉजिटिव  रखने की कोशिश करें। उन लोगों से बातचीत करें जिनसे मिलकर, बातचीत कर आपको अच्छा लगता है। इससे एंग्जाइटी से काफी हद तक दूर रहा जा सकता है।

2. काम के अलावा अपने टाइम को नई-नई चीज़ें सीखने में व्यस्त रखें। जितना कम आप पॉलिटिक्स औऱ गॉसिप में इन्वॉल्व होंगे, उनता ही सुकून से रहेंगे और एंग्जाइटी भी कम होगी। 

3. ऑफिस में क्या चीज़ें आपको ज्यादा परेशान कर रही हैं, पहले तो इसका कारण समझें और फिर उस पर काम करें।

4. घबराहट, बैचेनी का एहसास होने पर थोड़ी देर ब्रीदिंग एक्सरसाइज़ करें। थोड़ी देर चेयर या डेस्क पर सिर टिकाकर आराम करें। आराम करने से काफी हद तक राहत मिलती है।

0 Comments

Leave A Comment

Don’t worry ! Your email address will not be published. Required fields are marked (*).

LIVE अपडेट

Get Newsletter

Advertisement