कानपुर, NOI : केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआइटी) के छात्र-छात्राओं से जी-20 शिखर सम्मेलन में एजेंडा या थीम सेट करने के लिए सुझाव मांगे हैं। यह सम्मेलन दिसंबर 2022 में शुरू होगा। उन्होंने संस्थान की ओर से 700 से ज्यादा पेटेंट दाखिल करने की सराहना की।

केंद्रीय मंत्री ने रविवार दोपहर आइआइटी कानपुर के पब्लिक पालिसी एंड ओपिनियन सेल की ओर से रोड टू डेवलपमेंट विषय पर आयोजित नीति सम्मेलन में बतौर मुख्य अतिथि आनलाइन संबोधित किया। उन्होंने आइआइटी जैसे संस्थानों की अमृतकाल में वर्तमान सरकार की भूमिका का जिक्र किया। शिक्षकों व छात्रों से कहा कि यहां के छात्रों को भारत के हर हिस्से में समृद्धि, विकास व प्रौद्योगिकी को ले जाना होगा।

बताया कि पहले हमारी बढ़ती आबादी को अभिशाप माना जाता था, लेकिन प्रधानमंत्री ने इसे सबसे बड़ी ताकत में बदल दिया है। इसलिए हमें एक समग्र दृष्टि की आवश्यकता है, जो सभी क्षेत्रों में विकास करे, व्यापार आसान बनाए। नवाचार, अनुसंधान, विकास, पारिवारिक मूल्यों, संस्कृति व आधुनिकता को बढ़ावा दे। इसी को हम ईज आफ लिविंग कहते हैं। मंत्री ने बताया कि उनके भाई ने आइआइटी कानपुर से ही मेटलर्जी में स्नातक और अमेरिका स्थित एमआइटी से परास्नातक डिग्री ली थी।

0 Comments

Leave A Comment

Don’t worry ! Your email address will not be published. Required fields are marked (*).

LIVE अपडेट

Get Newsletter

Advertisement