लखनऊ, NOI : माध्यमिक शिक्षा मंत्री गुलाब देवी ने शुक्रवार को विधान परिषद में कहा कि 31 मार्च 2005 से पहले चयनित शिक्षक जिन्हें प्रबंधतंत्र की शिथिलता के कारण बाद में कार्यभार ग्रहण कराया गया, उन्हें भी पुरानी पेंशन देने पर विचार किया जा सकता है। मंत्री ने राज बहादुर सिंह चंदेल के प्रश्न पर विधान परिषद में यह आश्वासन दिया।

उन्होंने कहा कि 31 मार्च 2005 के बाद कार्यभार ग्रहण करने वाले शिक्षक एवं कर्मचारियों को नई पेंशन योजना का लाभ दिया जा रहा है। शिक्षक दल ने जब अनुपूरक प्रश्न पूछे तो सभापति ने मंत्री से इस मसले को दिखवा लेने के निर्देश दिए।

वहीं, एक अन्य प्रश्न के जवाब में गुलाब देवी ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड से चयनित 219 प्रवक्ता एवं 1404 अध्यापक अभी तक कार्यभार ग्रहण नहीं कर सके हैं। उन्होंने बताया कि 185 प्रवक्ता व 1331 सहायक अध्यापक कार्यभार ग्रहण करने के लिए उपस्थित नहीं हुए, जबकि अन्य शिक्षक अलग-अलग कारणों से अभी तक कार्यभार ग्रहण नहीं कर सके हैं।

संविदा पर सफाई कर्मचारी रख सकती हैं पंचायतें: पंचायती राज मंत्री भूपेन्द्र सिंह चौधरी ने सदन में बताया कि पंचायतें संविदा पर सफाई कर्मचारी रख सकती हैं। सरकार ने चतुर्थ श्रेणी संवर्ग को डेड संवर्ग घोषित कर दिया है। जहां भी पद रिक्त होंगे वहां संविदा पर ही सफाई कर्मियों की तैनाती की जाएगी।

वर्ष 2021 में दर्ज हुए 3.57 लाख आपराधिक मुकदमें: विधान परिषद में नेता सदन स्वतंत्र देव स‍िंह ने प्रश्न प्रहर में सपा सदस्य मान ङ्क्षसह यादव के सवाल पर बताया कि वर्ष 2021 में प्रदेश में 3,57,905 आपराधिक मुकदमें दर्ज हुए हैं।

0 Comments

Leave A Comment

Don’t worry ! Your email address will not be published. Required fields are marked (*).

LIVE अपडेट

Get Newsletter

Advertisement