नई दिल्ली, लाइफस्टाइल, NOI : Psychopath Signs: दिल्ली पुलिस ने एक शख्स की गिरफ्तारी है, जिस पर आरोप है कि उसने अपनी लिव-इन पार्टनर की हत्या करके उसके शरीर के 35 टुकड़े किए और दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में इन्हें फेंक दिया। लोकल कोर्ट ने आरोपी को 5 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा है। आरोपी का नाम आफताब आमीन पूनावाला बताया जा रहा है, जिसने 26 साल की श्रद्धा की 18 मई को गला घोंटकर हत्या कर दी थी।

पुलिस के मुताबिक, पूनावाला ने अपनी गर्लफ्रेंड के शरीर के 35 टुकड़े किए और फिर उन्हें स्टोर करने के लिए नया फ्रिज भी खरीदा। वह 18 दिनों तक इन टुकड़ों को अलग-अलग जगह पर फेंकता रहा, शक़ के दायरे में आने से बचने के लिए वह रात के 12 बजे ही घर से निकला करता था। इस तरह के मर्डर का मामला पहला नहीं है, इससे पहले भी आपने कई ऐसे दिल दहला देने वाले मामले देखे या पढ़े होंगे। इसमें सवाल यह खड़ा होता है कि एक व्यक्ति ये कैसे समझ सकता है कि उसका पार्टनर मानसिक तौर पर स्वस्थ है या नहीं?

कौन होते हैं साइकोपैथ?


'साइकोपैथ' (psychopath) शब्द आपने कई बार सुना होगा, जो आमतौर पर टीवी सीरियल और फिल्मों में ज़्यादा इस्तेमाल किया जाता है। हालांकि, साइकोपैथ एक मेडिल कंडिशन नहीं है। लोग आमतौर पर ऐसे व्यक्ति के लिए इस शब्द का इस्तेमाल कर लेते हैं, जिसका व्यवहार सामाजिक मानदंडों पर सही नहीं साबित होता। मेडिकल की दुनिया में साइकोपैथ से मिली जुली बीमारी है एंटीसोशल पर्सनेलिटी डिसॉर्डर (ASPD). मेयो क्लीनिक के मुताबिक, ASPD एक मानसिक विकार है, जिसमें लोगों को सही और गलत, सहानुभूति, या अन्य लोगों की भलाई समझ में नहीं आती।

ASPD से पीड़ित लोग बतौर पार्टनर टॉक्सिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए खराब हो सकते हैं, लेकिन उनका व्यक्तित्व करिश्माई भी होता है, साथ ही वे नकली सहानुभूति दिखाने में माहिर होते हैं। तो ऐसे में इस तरह के लोगों को कैसे पहचाना जाए?

साइकोपैथ पार्टनर को पहचानने के लिए 6 संकेत

वे बिना पछतावे के दूसरों को हानि पहुंचा सकते हैं


ASPD से पीड़ित लोग किसी को भी हानि पहुंचा सकते हैं और उन्हें इसका रत्ती भर भी अफसोस नहीं होता। फिर चाहे नुकसान आर्थिक रूप से हो, भावनात्मक रूप से या शारीरिक रूप से। एक्सपर्ट्स के अनुसार, इस तरह के लोगों की संगठित अपराध में शामिल होने की संभावना अधिक होती है।

आपका पार्टनर बिल्कुल आपकी कॉपी लगता है


'साइकोपैथ्स और लव' की लेखिका एडेलिन बर्च के मुताबिक, असामाजिक व्यक्तित्व विकार वाले लोग अपने पार्टनर को जीतने के लिए उनकी नकल करने लगते हैं। साइकोपैथ्स बिल्कुल आपकी तरह का व्यक्ति बन जाता है। जैसे कि आपकी जैसी पसंद रखना आदि ताकि वे आपकी नज़र में एक पर्फेक्ट व्यक्ति बन जाएं।

उनके बहुत ज़्यादा दोस्त नहीं होते


ASPD से पीड़ित लोगों में सहानुभूति और करुणा की कमी होती है, इसलिए उनके लिए दोस्त बनाना नामुमकिन हो जाता है। उनका फोकस अपने ऊपर ही रहता है, इसलिए उनकी किसी और से नहीं बनती। उनके लिए एक हेल्दी और लंबा रिश्ता बनाए रखना भी मुश्किल हो जाता है। वे किसी के साथ मिलकर काम नहीं कर सकते, क्योंकि उन्हें दूसरों पर अथॉरिटी चाहिए होती है।

वे सिर्फ अपने फायदे के लिए काम करते हैं


ASPD से पीड़ित लोग सिर्फ अपने फायदे के लिए काम करते हैं, जिसका मतलब है कि वे अपने आसपास के लोगों का शोषण करते हैं, भले ही वे प्रियजन या परिवार का कोई सदस्य ही क्यों न हो। मेयो क्लीनिक के अनुसार, जिसकी वजह से वे अपने पार्टनर से भी झूठ बोलते हैं, चोरी करते हैं और उन्हें चोट पहुंचाते हैं। इस तरह के स्वभाव की वजह से उनके रिश्ते में दुर्व्यवहार का स्तर बढ़ता चला जाता है।

उन्हें कोई सहानुभूति नहीं होती


इस तरह के लोगो में सहानुभूति नहीं होती, वे किसी को भी शारीरिक हानि से लेकर क़त्ल भी कर सकते हैं। ASPD से पीड़ित व्यक्ति अक्सर हिंसक होता है, लेकिन ज़रूरी नहीं कि हर व्यक्ति ऐसा हो। वे बिना हिंसा किए भी सहानुभूति की कमी दिखा सकते हैं।

ASPD से पीड़ित लोगों को पहचानना मुश्किल होता है


इससे पीड़ित लोगों की पहचान करना बेहद मुश्किल होता है, क्योंकि ये लोग दूसरों का दिल जीतना जानते हैं, यहां तक कि वे झूठी सहानुभूति दिखाने में भी माहिर होते हैं। ASPD से पीड़ित व्यक्ति की खासियत यही है कि उनसे बात करने वाला व्यक्ति नहीं समझ पाएगा कि वे कितने ख़तरनाक शख्य से बात कर रहा है। उनका व्यक्तित्व सबको पसंद आने वाला होता है और वे समझदार दिख सकते हैं।

0 Comments

Leave A Comment

Don’t worry ! Your email address will not be published. Required fields are marked (*).

LIVE अपडेट

Get Newsletter

Advertisement