नई दिल्ली, NOI : एक समय था जब भारतीय सड़कों को लेकर काफी मजाक बनता था, लेकिन अब एडवांस टेक्नोलॉजी से एक्सप्रेसवे और हाइवे को बनाया जा रहा है, जिससे एक जगह से दूसरी जगह बाइ रोड पहुंचना बेहद आसान और आरामदायक हो गया है। इस अनुभव को और यादगार और हाइटेक बनाने के लिए भारत सरकार 5 ऐसे एक्प्रेसवे पर काम कर रही है, जो इन दिनों काफी चर्चा में है। आइये जानते हैं उन एक्सप्रेसवे के नाम और लोकेशन।



Delhi-Amritsar-Katra Expressway

यह नई एक्सप्रेसवे परियोजना जम्मू-कश्मीर के कटरा को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से जोड़ेगी, जहां माता वैष्णो देवी का मंदिर है। एक्सप्रेसवे 648 किमी से अधिक में फैला है, और यह चार लेन का एक्सप्रेसवे यात्रियों के लिए एक तेज़ और अधिक सुविधाजनक मार्ग प्रदान करेगा।

Delhi-Mumbai Expressway

Delhi Mumbai Expressway भारत की राजधानी, मुंबई को केवल 12 घंटों में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से जोड़ेगा और इसके 1,386 किलोमीटर तक फैले भारत के सबसे लंबे राजमार्ग होने का अनुमान है। यह जयपुर, किशनगढ़, अजमेर, कोटा, चित्तौड़गढ़, उदयपुर, भोपाल, उज्जैन, इंदौर, अहमदाबाद, वडोदरा और सूरत से कनेक्टिविटी में भी सुधार करेगा। इस एक्सप्रेसवे के निर्माण की कुल अनुमानित लागत लगभग 1 लाख करोड़ रुपये है।

गंगा एक्सप्रेसवे

गंगा एक्सप्रेसवे उत्तर प्रदेश में चल रही एक विशाल परियोजना है। एक्सप्रेसवे की कुल लंबाई 1047km है, जिसमें से 594km को सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय द्वारा अनुमोदित किया गया है।

बैंगलोर-चेन्नई एक्सप्रेसवे

आगामी बैंगलोर-चेन्नई एक्सप्रेसवे दो व्यस्त शहरों को जोड़ेगा। दक्षिण भारत में व्यापार और प्रौद्योगिकी के लिए जाना जाने वाला यह हाई-स्पीड कॉरिडोर दोनों शहरों के बीच संबंध में काफी सुधार करेगा और यात्रा और माल परिवहन को तेज और अधिक कुशल बना देगा।

मुंबई-नागपुर एक्सप्रेसवे

आगामी मुंबई-नागपुर एक्सप्रेसवे क्षेत्र में यात्रा को बढ़ाने के लिए तैयार है। 700 किमी की कुल लंबाई के साथ, यह एक्सप्रेसवे दोनों शहरों के बीच यात्रा के समय को घटाकर सिर्फ आठ घंटे कर देगा।

0 Comments

Leave A Comment

Don’t worry ! Your email address will not be published. Required fields are marked (*).

LIVE अपडेट

Get Newsletter

Advertisement